Bharat Bandh Update: आज भारत बंद, किन-किन सेवाओं पर पड़ेगा असर यहां जानिए
Bharat Bandh Update: आज भारत बंद, किन-किन सेवाओं पर पड़ेगा असर यहां जानिए

व्यापारियों ने 26 फरवरी को गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) की खामियों को दूर करने , डीजल-पेट्रोल की कीमतें बढ़ने के खिलाफ भारत बंद का ऐलान किया है। भारत बंद में लगभग 8 करोड़ छोटे व्यवसाय शामिल होंगे। साथ ही, देश के लगभग 1 करोड़ ट्रांसपोर्टर और लघु उद्योग और महिला उद्यमी भी इसमें शामिल होने का दावा कर रहे हैं।

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने 26 फरवरी को भारत बंद का आह्वान किया है। इस दिन सभी व्यावसायिक बाजार बंद रहेंगे। सड़क परिवहन क्षेत्र की सर्वोच्च संस्था ऑल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने कैट के समर्थन में सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक चक्का जाम की घोषणा की है। किसी भी तरह के सामान की बुकिंग, डिलीवरी, लदाई/उतराई बंद रहेगी। सभी परिवहन कंपनियों को विरोध करने के लिए कल अपने वाहन पार्क करने के लिए कहा गया है। देश भर के विभिन्न राज्यों में विरोध प्रदर्शन के रूप में 1500 स्थानों पर धरने आयोजित किए जाएंगे। इससे लोगों को परेशानी हो सकती है।

READ  उत्‍तराखंड : एक दर्जन विभाग देंगे प्रस्तुतीकरण, साढ़े चार घंटे मुख्यमंत्री की कुर्सी पर आसीन रहेंगी सृष्टि गोस्वामी

जानिए कौन से संगठन यहां Strike (हड़ताल) में शामिल होंगे

देश के ट्रांसपोर्ट क्षेत्र के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने न केवल कैट के व्यापार बंद का समर्थन किया है, बल्कि उस दिन देश भर में ट्रांसपोर्ट का चक्का जाम करने की भी घोषणा की है। इसके अलावा, बड़ी संख्या में राष्ट्रीय व्यापार संगठनों ने भी व्यापार बंद का समर्थन किया है, विशेष रूप से ऑल इंडिया एफएमसीजी डिस्ट्रिब्युटर्ज़ फेडरेशन, फेडेरेशन ऑफ अलूमिनियीयम यूटेंसिलस मैन्यूफैकचररस एंड ट्रेडर्ज एसोसिएशन, नार्थ इंडिया स्पाईसिस ट्रेडर्स एसोसिएशन, आल इंडिया वूमेंन एंटेरप्रिनियर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया कम्प्यूटर डीलर एसोसीइएशन, आल इंडिया कॉस्मेटिक मनुफक्चरर्स एसोसिएशन आदि।

READ  अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने किया अरेस्ट, पुलिस पर हाथापाई का भी आरोप, बंद हो चुके केस में हुई गिरफ्तारी

26 फवरी को क्या बंद किया जाएगा?

चार्टर्ड अकाउंटेंट्स और टैक्स एडवोकेट्स के एसोसिएशन ने भी अपने क्लाइंट्स को शुक्रवार को कार्यालय में नहीं आने की सूचना दी है, यानी उनके कार्यालय भी बंद रहेंगे। लगभग 1500 स्थानों पर धरना दिए जाने की भी घोषणा की गई है।