सभी किसानों का बनेगा क्रेडिट कार्ड; 15 अप्रैल तक चलेगा अभियान यूपी में , योगी आदित्यनाथ सरकार की बड़ी पहल
सभी किसानों का बनेगा क्रेडिट कार्ड; 15 अप्रैल तक चलेगा अभियान यूपी में , योगी आदित्यनाथ सरकार की बड़ी पहल

Chief Minister Yogi Adityanath ने किसानों को Credit Cards से जोड़ने की बड़ी पहल की है। उन्होंने उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान योजना के सभी लाभार्थियों को 15 अप्रैल तक अभियान चलाकर किसान क्रेडिट कार्ड देने का निर्देश दिए है। उन्होंने प्रधानमंत्री किसान योजना की छोटी जोत वाले किसानों के क्रेडिट कार्ड बनाने का भी आदेश दिया है।

Uttar Pradesh की Yogi Adityanath government वर्ष 2022 तक किसानों की आय को double करने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है। विभिन्न schemes के बेहतर उपयोग, अवस्थापना से संबंधित योजनाओं को पूरा करने के लिए काम शुरू कर दिया गया है। राज्य में पहली बार किसानों के लिए 27 विभागों को एक साथ जोड़ा गया है। पीएम किसान योजना के सभी लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए, कृषि विभाग की ओर से जिलों में अभियान चलाकर किसानों के प्रार्थना पत्र वित्तीय संस्थाओं को दिए हैं , लेकिन Corona संकट के कारण किसान Credit Card नहीं दिया गया सभी किसानों को। स्थिति सामान्य होने के बाद, हर गांव में अभियान चलाकर किसानों के Credit Card बनाए जा रहे हैं।

READ  UP COVID लॉकडाउन दिशानिर्देश: औद्योगिक इकाइयाँ चालू रहेंगी , विवाह समारोह में दिशानिर्देशों का पालन हो

(पैक्स सदस्य) PACS Member किसानों को भी निर्देश दिया गया है कि वे अपने केसीसी जिला Cooperative Banks से सीधे बनवा लें। इस संबंध में, अपर मुख्य सचिव कृषि ने सभी डीएम, सीासीडीओ और कृषि उप निदेशक को पत्र जारी किए हैं, Pradhan Mantri Kisan Yojana के सभी लाभार्थियों का कृषि विभाग के Employees शत प्रतिशत सत्यापन कराते हुए सभी इच्छुक लाभार्थियों का Kisan Credit Card भरवाने के निर्देश दिए हैं। यह सत्यापन 15 April तक चलेगा।

आत्मनिर्भर किसान समन्वित विकास योजना शुरू की जाएगी: राज्य सरकार जल्द ही आत्मनिर्भर किसान समन्वित विकास योजना भी शुरू करने जा रही है। इसके लिए वित्तीय वर्ष 2021-2022 के बजटमें 100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। योजना में state के प्रत्येक एग्रो क्लाईमेटिक जोन में अधिक होने वाली फसलों का चिह्नीकरण, कृषि के लिए New Technology और निवेश को बढ़ावा, चयनित उत्पादों का मूल्य संवर्धन, Marketing के लिए Market तैयार करने और Every Block Level पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना करने की योजना है।

READ  UP School Reopen Guidelines: दो-दो दिन ही चलेंगी कक्षाएं अभी हफ्ते में, जानिए गाइडलाइन

किसानों की आय पराली से होगी आमदनी : पराली की समस्या को देखते हुए राज्य के कई जिलों में बायोमास प्लांट लगाने की तैयारी है। वर्तमान में, संयंत्र बहराइच, बागपत और फैजाबाद के तीन जिलों में स्थापित किया गया है और इससे उत्पादित होने वाले पैलेट्स की सप्लाई भी एनटीपीसी ऊंचाहार को की जा रही है। एक तरफ पराली की समस्या का निदान हो रहा है। इसी तरह किसान भी कमा रहे हैं।